जवान बेटे की मौत से इतना टूट गए थे जगजीत सिंह, सदा के लिए दूर होना चाहते थे संगीत से - Indiarox
  • Home
  • Bollywood
  • जवान बेटे की मौत से इतना टूट गए थे जगजीत सिंह, सदा के लिए दूर होना चाहते थे संगीत से
Bollywood

जवान बेटे की मौत से इतना टूट गए थे जगजीत सिंह, सदा के लिए दूर होना चाहते थे संगीत से

Indiarox

भारत में जब भी गजल गायिकी का जिक्र होगा जगजीत सिंह का नाम बड़ी अदब से लिया जाएगा। 10 अक्तूबर को ही जगजीत सिंह इस नश्वर दुनिया को छोड़ गए थे। ‘गजल किंग’ कहे जाने वाले बेहतरीन गायक जगजीत सिंह को संगीत से बेहद प्यार था। उन्होंने संगीत में ही अपनी एक अलग दुनिया ढूंढकर निकाली थी। हालांकि उनकी निजी जिंदगी काफी उतार चढ़ाव से भरी हुई थी। जगजीत सिंह की पुण्यतिथि पर जानते हैं उनकी निजी जिंदगी से जुड़ी कुछ अहम बातें।

Related image

जगजीत सिंह का जन्म बीकानेर (राजस्थान) में हुआ था। पहले उनका नाम जगजीवन सिंह था बाद में उन्होंने इसे जगजीत सिंह कर लिया। उनके पिता चाहते थे कि जगजीत इंजीनियर बने पर उन्हें हमेशा से संगीत में रूचि रही। पढ़ाई के बाद ही जगजीत सिंह ने ऑल इंडिया रेडियो जालंधर में एक सिंगर और म्यूजिक डायरेक्टर के रूप में काम शुरू कर दिया था। साल 1965 में जगजीत सिंह अपने परिवार को बिना बताए मुंबई चले गए और संगीत की दुनिया में अपना संघर्ष शुरू कर दिया। मुंबई में जगजीत सिंह की मुलाकात एक बंगाली महिला चित्रा दत्ता से हुई। दोनों में प्यार हो गया और फिर साल 1969 में दोनों ने शादी कर ली। उन्हें एक बेटा विवेक भी हुआ।

Related image

साल 1976 में जगजीत सिंह और चित्रा की एल्बम ‘द अनफॉरगेटेबल’ रिलीज हुई जिसकी काफी प्रशंसा हुई। इस एल्बम की वजह से दोनों कपल स्टार बन गए। एल्बम के एक गीत ‘बात निकलेगी’ को लोगों ने काफी पसंद किया था। जगजीत सिंह और चित्रा सिंह एक साथ कई कॉन्सर्ट करते थे। साल 1980 तक जगजीत सिंह गजल किंग बन चुके थे। प्राइवेट एल्बम के साथ-साथ जगजीत ने फिल्मों में भी कई गजलें गाईं जिनमें ‘प्रेम गीत’, ‘अर्थ’, ‘जिस्म’, ‘तुम बिन’, ‘जॉगर्स पार्क’ जैसी फिल्में शामिल हैं।

Related image

जगजीत सिंह के बेटे विवेक की मात्र 18 साल की उम्र में एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। इसकी वजह से जगजीत और उनकी पत्नी काफी दुखी रहने लगे थे। जगजीत संगीत की दुनिया से दूर हो जाना चाहते थे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। जबकि उनकी पत्नी ने बेटे की मौत से दुखी होकर गाना तक छोड़ दिया था। भारत सरकार की तरफ से जगजीत सिंह को साल 2003 में ‘पद्म भूषण’ सम्मान से नवाजा गया था।

Image result for जगजीत सिंह with family

साल 2011 में जगजीत सिंह को यूके में गुलाम अली के साथ परफॉर्म करना था लेकिन सेरिब्रल हैमरेज की वजह से उन्हें 23 सितंबर 2011 को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत बिगड़ती चली गई और वो कोमा में चले गए। 10 अक्टूबर 2011 को जगजीत सिंह की मौत हो गई। भले ही जगजीत सिंह आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन गजलों के माध्यम से वो सदा हमारे दिलों में जिंदा रहेंगे।

YOU MAY ALSO GET MANY MORE VIRAL CONTENTS ON OUR TWITTER HANDLE JUST CLICK LINK TO SEE!

Related posts

विराट ने दीपिका के साथ स्क्रीन शेयर करने से क्यों किया इंकार, ये है बड़ी वजह

spyrox

Dancing Uncle gets a solid surprise birthday gift from Digvijaya Singh

spyrox

इस एक्ट्रेस का खत पढ़ क्यों रो पड़ीं सोनाली बेंद्रे, कैंसर के इलाज के बीच भी ट्वीट कर कही ये बात

spyrox

Leave a Comment