हैट्रिक: एक बार फिर इंदौर हुआ है स्वच्छता में नम्बर वन - Indiarox
  • Home
  • Culture
  • हैट्रिक: एक बार फिर इंदौर हुआ है स्वच्छता में नम्बर वन
Beauty Culture

हैट्रिक: एक बार फिर इंदौर हुआ है स्वच्छता में नम्बर वन

indiarox,india rox

फिर इंदौर ने बाजी मारी और स्वच्छता में नंबर वन आ गया

दिल्ली। स्वच्छता का मॉडल बना इंदौर ने लगातार तीसरी बार स्वच्छता का खिताब जीतकर इतिहास रचा। अब से कुछ ही देर पहले दिल्ली के विज्ञान भवन में इंदौर के विजेता होने की घोषणा की गई।

राष्ट्रपति के हाथों नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह और महापौर मालिनी गौड़ ने यह पुरस्कार प्राप्त किया। इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष फौजिया देख अलीम, प्रिंसिपल सेकेट्री संजय दुबे ओर कमिश्नर आशीष सिंह आदि भी मौजूद थे।

केंद्र सरकार के हाउसिंग और अर्बन मंत्रालय की ओर से परिणाम की घोषणा की गयी। दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी की मौजूदगी में अवॉर्ड समारोह का आयोजन रखा गया था।

इंदौर की सर्वेक्षण रिपोर्ट सबसे मजबूत

बताया गया है कि इंदौर की हैट्रिक इसलिए भी तय मानी जा रही थी कि दिल्ली से आई सर्वेक्षण टीम ने 19 दिनों तक इंदौर में रहकर जो रिपोर्ट दी है वह सभी शहरो पर भारी पड़ी। सफाई से लेकर गिला सुख कचरा, पब्लिक फ़ीडबेग जैसे महत्पूर्ण विषयो पर इंदौर का प्रतिशत अच्छा बताया गया। मालूम हो कि पिछले दो साल 2017 ओर 2018 में इंदौर को सर्वेक्षण में पहला स्थान हासिल हुआ था।

मोदी के मिशन में इंदौर को दो बार कामयाबी

PM नरेन्द्र मोदी ने ही देश को स्वस्थ ओर स्वच्छ बनाने का बीड़ा उठाया था। तब किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि इन चार साल में स्वच्छता मामले में इतनी प्रगति होगी। मोदी के इस सफल अभियान स्वच्छता भारत मिशन के तहत शहरों के बीच स्वछता को लेकर प्रति स्पर्धा प्रारम्भ हुई ओर देखते ही देखते यह अभियान सरकार का सबसे बड़ा मिशन बन गया। इंदौर के लिए मोदी का यह मिशन कॉपी कामयाब रहा। स्वछता में तीर मारकर इंदौर देश का मॉडल ही नही बना बल्कि भारत के नक्शे पर चमकता रहा है। इंदौर की यह चमक आज भी बनी हुई है।

स्वच्छता के हर क्षेत्र में हुआ कार्य

स्वछता पर इंदौर ने हर क्षेत्र में ऐसा कार्य किया कि सर्वेक्षण टीम भी देखती रह गई। इंदौर में ODI से मुक्त होने के बाद शहर में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन, सार्वजनिक स्थलों पर नियमित सफाई, कचरे से खाद बनाने के प्लांट, कचरा स्टेशनों पर कचरे से खाद बनाकर बेचने, वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम, गिला ओर सूखा कचरे का पृथकीकरण आदि क्षेत्रों में व्यापक पैमाने पर कार्य हुआ।

 

हिंदी में न्यूज़ देखने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को भी लिखे कर सकते हैं। INDIAROX

Related posts

Top 20 Incredible Bridges Of The World, Number 3 Is In India

spyrox

FIFA World Cup 2018: When and Where to Watch Day 13 Matches, Coverage on TV and Live Streaming

spyrox

Renault India to offer special scheme for women on Int’l Women’s Day

spyrox

Leave a Comment