2 साल तक आश्रम में कैद करके रखा और करता रहा रेप - Indiarox
  • Home
  • Social
  • 2 साल तक आश्रम में कैद करके रखा और करता रहा रेप
Social

2 साल तक आश्रम में कैद करके रखा और करता रहा रेप

Indiarox, India Rox

गोरखपुर के एक आश्रम से भागकर दिल्ली पहुंची एक महिला ने दिल्ली महिला आयोग में गुहार लगाई, जिसके बाद आश्रम के ‘अमित बाबा मजार वाला’ के खिलाफ रेप के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। यह बाबा गोरखपुर के परमेश्वरपुर, भंडारों में एक मज़ार के पास आश्रम चलाता है। आरोप है कि उसने महिला को दो साल तक आश्रम में कैद करके रखा था।

मजार में काम करने वाले एक सेवक की मदद से महिला भागी। आयोग ने एफआईआर दर्ज करवाने के लिए दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा। दिल्ली पुलिस ने आईपीसी की धारा 376, 323,342, 328, 506 और 120बी के तहत दिल्ली में जीरो एफआईआर दर्ज की। आयोग की चीफ ने दिल्ली पुलिस को महिला को सुरक्षा देने के लिए कहा है।

महिला ने डीसीडबल्यू को बताया कि लगभग दो साल पहले वह काम के सिलसिले में परिवार के साथ गोरखपुर गई थी, जहां उसे एक फैक्ट्री में काम मिल गया। इस दौरान उसे एक महिला मिली जिसने पीड़िता को इलाज करवाने के नाम पर ‘अमित बाबा मजार वाले’ से मिलवाया। इस औरत पर विश्वास करके वह बाबा से मिली। बीमारी से छुटकारा दिलाने के नाम पर बाबा ने दवाई दी।

Image result for 2 साल तक आश्रम में कैद करके रखा और करता रहा रेप

खाने के बाद उसका जी मिचलाने लगा और किसी तरह से अपने घर पहुंची। बाबा ने अपना फोन नंबर दिया था, उसने बाबा को फोन किया। आरोपी ने उसे मजार पर बुलाया।

महिला का कहना है कि बाबा ने उसे कैद कर लिया और लगातार 2 साल तक उसके साथ रेप किया। आरोप है कि बाबा ने राजनैतिक संरक्षण का हवाला देते हुए उसे धमकी दी कि अगर वह किसी को बताएगी तो उसके परिवार को जान से मार दिया जाएगा।

महिला ने चुपके से वहां से भागने की कोशिश की, मगर वह पकड़ी गई, जिसके बाद बाबा और उसके चेलों ने उसको बुरी तरह मारा-पीटा। खून से लथपथ, लगभग बेहोशी की हालत में मजार के किसी व्यक्ति की मदद से भागकर दिल्ली पहुंची। यहां वह दिल्ली महिला आयोग पहुंची, जहां उसकी काउंसलिंग की गयी

‘सरकार इन आश्रमों की नियमित जांच करे’ 
डीसीडबल्यू चीफ स्वाति जय हिंद ने कहा, आयोग के पास महिलाओं की ऐसी कई शिकायतें आती हैं, जिनमें स्वयंभू बाबाओं ने उनका यौन शोषण किया है। उन्होंने कहा, ‘महिलाएं ऐसे फर्जी बाबाओं से बचें और अंधविश्वास की जगह तर्कशक्ति पर विश्वास करें। आयोग प्रधानमंत्री से यह अपील करता है ऐसे आश्रमों के कामों को नियमित करने के लिए कानून बनाया जाए और सरकार इन आश्रमों की नियमित अंतराल पर जांच करें।’

YOU MAY ALSO LIKE OUR FACEBOOK PAGE FOR TRENDING VIDEOS AND FUNNY POSTS CLICK HERE AND LIKE US AS INDIAROX

Related posts

आखिर क्यों आसाराम को लगता था कि उसके जैसे ब्रह्मज्ञानी के लिए बलात्कार पाप नहीं |

spyrox

ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने से 62 मौतें, सब जगह लावा, राख और तबाही

spyrox

फ्रांस के स्कूलों में मोबाइल फोन पर बैन, भारत में भी रोक लगाने पर बहस तेज

spyrox

Leave a Comment