Movie Review: 'जजमेंटल है क्या' देखने का मन बना रहे हैं तो पहले पढ़ें रिव्यू, मिले इतने स्टार्स - Indiarox
  • Home
  • Business
  • Movie Review: ‘जजमेंटल है क्या’ देखने का मन बना रहे हैं तो पहले पढ़ें रिव्यू, मिले इतने स्टार्स
Business

Movie Review: ‘जजमेंटल है क्या’ देखने का मन बना रहे हैं तो पहले पढ़ें रिव्यू, मिले इतने स्टार्स

Indiarox

कलाकार: कंगना रनौत, राजकुमार राव, हुसैन दलाल, अमायरा दस्तूर, जिमी शेरगिल, सतीश कौशिक आदि।
लेखक: कनिका ढिल्लो
निर्देशक: प्रकाश कोवेलामुदी
निर्माता: एकता कपूर, शोभा कपूर और शैलेश आर सिंह

फिल्म की निर्माता एकता कपूर मशहूर अभिनेता जीतेंद्र की बेटी हैं। निर्देशक प्रकाश कोवेलामुदी मशहूर निर्देशक के राघवेंद्र राव के बेटे हैं। और फिल्म की मुख्य कलाकार कंगना रनौत हिंदी सिनेमा में वंशवाद का सबसे मुखर विरोधी स्वर हैं। हालांकि, कंगना की असली पहचान देश में प्रयोगात्मक सिनेमा के सबसे बड़े कलाकार के रूप में होनी चाहिए। वह आयुष्मान खुराना की लीग की अभिनेत्री हैं और अपनी हर फिल्म में कुछ अलग करने की कोशिश पूरी शिद्दत से करती भी हैं। राजकुमार राव के साथ मिलकर इस बार उन्होंने एक साइको थ्रिलर बनाने की कोशिश की है। दिक्कत फिल्म के साथ ये है कि ये हिंदी सिनेमा के परंपरागत दर्शकों की समझ से ज्यादा बौद्धिक है।

एक हादसे में मारे गए माता-पिता की मौत का खुद को जिम्मेदार समझ बैठी बॉबी बड़ी होकर डबिंग आर्टिस्ट बनती है। साउथ की फिल्मों की डबिंग करते समय वह खुद को वही मानने लगती है जिस किरदार की वह डबिंग कर रही होती है। हिंदी फिल्मों में हीरो

इन बनने की उसकी चाहत है और इस चाहत को वह पूरा करती है इन किरदारों का रूप धरकर। विरासत में मिले उसके बंगले में एक किराएदार आता है अपनी पत्नी के साथ। बॉबी को उसके इरादों पर शक है। एक और मौत होती है। फिर, कहानी दो साल के अंतराल के बाद लंदन पहुंच जाती है। वहां बॉबी को यही किराएदार अपनी रिश्ते की बहन के पति के रूप में मिलता है।

लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पढ़ाई करने वाली कनिका ढिल्लो फिल्म जजमेंटल है क्या की पटकथा लेखक हैं। शाहरुख खान की रा वन से लेकर अभिषेक बच्चन की मनमर्जियां तक कनिका की कलम से हमेशा ऐसे किरदार निकले हैं जो आमतौर पर हिंदी सिनेमा में कम ही दिखते हैं। नए किरदार गढ़ते समय हिंदी दर्शकों की भावनाओं से उनका जुड़ाव न हो पाने की दिक्कत कनिका की दूसरी पटकथाओं में जैसी रही है, वैसी ही यहां भी है

जजमेंटल है क्या में कनिका ने बॉबी और केशव नाम के दो किरदार अपने पति प्रकाश की फिल्म के लिए लिखे हैं। प्रकाश के सामने जाहिर है अपनी पत्नी की पटकथा में ज्यादा फेरबदल करने का मौका नहीं रहा और जो कुछ उन्होंने बना दिया वह आम दर्शक के हिसाब से बोझिल है। प्रकाश के सामने हिंदी सिनेमा में खुद को स्थापित करने का बड़ा मौका था लेकिन अपनी तरफ से कुछ खास न कर पाने के चलते वह पूरी फिल्म में पटकथा से बंधे रहे। सिवाय अनुराग कश्यप जैसा कैमरा घुमाने के प्रकाश पूरी फिल्म में कुछ अलग नहीं कर पाए।

अदाकारी के पैमाने पर बेशक कंगना रनौत खुद को एक नई ऊंचाई पर ले जाने की कोशिश अपनी हर फिल्म में करती हैं। एक बेलौस, बिंदास और बहादुर नायिका बनना उनका ख्वाब है। लेकिन, रील और रीयल लाइफ में फर्क न कर पाना उनकी शख्सीयत पर हर बार असर डालता है। जजमेंटल है क्या की बॉबी जुर्माने की बजाय मानसिक चिकित्सालय में जाने को तरजीह देती है। दवाइयां की गोटी खेलती है लेकिन उसका दिमाग चाचा चौधरी से भी तेज चलता है। और, इस किरदार को कंगना ने निभाया भी बहुत सही तरीके से है।

राजकुमार राव को भी केशव और श्रवण के बीच झूलता अच्छा किरदार मिला है। शीशों में दिखने वाले प्रतिबिंब के सहारे रावण का बिंब बनाने वाले सीन में उनका अभिनय चरम पर दिखता है। फिल्म चूंकि कंगना के लिए बनी है लिहाजा राजकुमार राव के किरदार को जितना विस्तार मिलना चाहिए था, उतना फिल्म में है नहीं। हुसैन दलाल ने प्रभावित करने वाला काम किया है और अमायरा दस्तूर, सतीश कौशिक और ब्रजेश काला भी अपने अपने छोटे किरदारों में अपनी छाप छोड़ने में सफल रहते हैं।

साइको थ्रिलर के तौर पर बनी जजमेंटल है क्या में संगीत का कोई खास स्कोप नहीं है और जो भी संगीत फिल्म की कहानी के दौरान सुनाई देता है, वह अपनी छाप छोड़ नहीं पाता। फिल्म की फोटोग्राफी सामान्य है और संपादन चुस्त होता तो फिल्म की दो घंटे की लंबाई को थोड़ा और कम किया जा सकता था। अमर उजाला के मूवी रिव्यू में फिल्म जजमेंटल है क्या को मिलते हैं ढाई स्टार।

YOU MAY ALSO LIKE OUR FACEBOOK PAGE FOR TRENDING VIDEOS AND FUNNY POSTS CLICK HERE AND LIKE US AS INDIAROX

Related posts

Financial Gravity Hosts AI Design Challenge For Tax Planning Software

indiarox

ATM कार्ड को लेकर आई बड़ी खबर, RBI ने देशभर के सभी बैंकों को जारी किए निर्देश

spyrox

गन्‍ना कि‍सानों को मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत, 8000 करोड़ का राहत पैकेज मंजूर

spyrox

Leave a Comment