Reliance के मालिक धीरूभाई अंबानी की कहानी: पत्नी को गिफ्ट की पहली कार, तो कभी खिलाया विदेशी खाना - Indiarox
  • Home
  • inspiring quotes
  • Reliance के मालिक धीरूभाई अंबानी की कहानी: पत्नी को गिफ्ट की पहली कार, तो कभी खिलाया विदेशी खाना
inspiring quotes

Reliance के मालिक धीरूभाई अंबानी की कहानी: पत्नी को गिफ्ट की पहली कार, तो कभी खिलाया विदेशी खाना

नई दिल्ली: आइडल कपल वो होता है जो अपने पार्टनर को घर के कामों के साथ-साथ ऑफिस के कामों में भी साथ रखे. ऐसे कपल की सबसे बड़ी मिसाल है धीरूभाई अंबानी और कोकिलाबेन. आज धीरूभाई का जन्मदिन है. रिलायंस इंडस्ट्रीज को शुरू करने वाले धीरूभाई की 2002 में हार्ट अटैक से मृत्यु हो गई थी. इनके जाने के बाद कोकिलाबेन ने मुद्रा वेबसाइट को अपना इंटरव्यू दिया, जिसमें उन्होंने अपनी जिंदगी के अहम पलों को साझा किया. यहां आपको धीरूभाई अंबानी और कोकिलाबेन की लव स्टोरी के जुड़े कुछ किस्से बता रहे हैं, जिससे ये साबित हो जाता है धीरूभाई एक अच्छे बिज़नेसमैन ही नहीं बल्कि एक अच्छे पति भी थे.

1. कोकिलाबेन को धीरूभाई का प्यार जताने का अंदाज़ बहुत पसंद था. कोकिला ने कभी भी जामनगर में कोई गाड़ी या कार नहीं देखी थी. उन्होंने बताया कि “मैं चोरवाड़ से अदेन शहर के लिए निकली. वहां पहुंचने से पहले धीरूभाई का फोन आया उन्होंने मुझे कहा कि कोकिला मैंने तुम्हारे लिए एक गाड़ी ली है. मैं तुम्हें लेने आ रहा हूं. बताओ गाड़ी का रंग क्या होगा? मैं बता दूं ‘It is black, like me’.” कोकिला को प्यार जताने का यही अंदाज़ बहुत पसंद था.

Dhirubhai Ambani: कभी चाट-पकौड़े बेचते थे Reliance Industries के मालिक​

2. कोकिलाबेन ने अपनी पढ़ाई गुजराती स्कूल की. मुम्बई शिफ्ट होने के बाद वहां के माहौल में ढलने के लिए धीरूभाई अंबानी ने कोकिलाबेन को अंग्रेज़ी सिखने को कहा. एक ट्यूटर घर में बच्चों को पढ़ाने के लिए आता था. कोकिलाबेन ने भी उन्हीं से अंग्रेज़ी की शिक्षा ली.

ये छोटी-छोटी 5 बातें आपके रिलेशनश‍िप को कर सकती हैं बर्बाद​

Image result for dhirubhai ambani

3. धीरूभाई के मन में अपनी पत्नि के लिए इज्जत इस कदर थी कि वो अपने सभी नए काम में कोकिलाबेन को शामिल करते थे. वो उन्हें अपने हर काम के शुभारंभ के लिए साथ लेकर जाया करते थे. इतना ही नहीं वो हर काम, सभी प्रोजेक्ट कोकिलाबेन से बात करके ही आगे बढ़ाते थे. एक ये भी कारण था जो धीरूभाई ने उन्हें अंग्रेज़ी सिखाई.

4. कोकिलाबेन ने बताया कि जब भी हम किसी नए शहर काम के लिए तो धीरूभाई मुझे उस शहर की सारी जानकारीनिकालने का काम देते. वो अपने प्रोजेक्ट पर फोकस करते और मैं उस शहर की सभी जरूरी जानकारी जुटाती. जब भी हम फ्री होते तो धीरूभाई मुझे

और होटलों के बारे में बताते.

5. धीरूभाई ने बहुत ऊंचा मुकाम हासिल किया लेकिन कभी भी घंमड को अपने आड़े नहीं आने दिया. कोकिलाबेन ने बताया कि धीरूभाई सिर्फ अपने दोस्तों के साथ बाहर घूमने के लिए ही नहीं बल्कि मेरे दोस्तों को बुलाने के लिए कहा करते थे. जब हमने नया एयरक्राफ्ट लिया तब भी उन्होंने मेरे दोस्तों को साथ लाने की काफी जिद की.

Related posts

स्‍वामी विवेकानंद की जिंदगी के ये 5 रहस्‍य आपको दिला सकते हैं सुपर सक्‍सेस

spyrox

बुद्ध पूर्णिमा: जिंदगी जीने का तरीका बदल देंगे गौतम बुद्ध के ये 15 विचार

spyrox

विश्‍वास में कितना विश्‍वास होना चाइये जानिए…

spyrox

Leave a Comment