ट्रिपल मर्डर: बेरहमी से कैंची से गोद मां-बाप और बहन को मार डाला जानिए क्या थी वजह - Indiarox
  • Home
  • Culture
  • ट्रिपल मर्डर: बेरहमी से कैंची से गोद मां-बाप और बहन को मार डाला जानिए क्या थी वजह
Culture

ट्रिपल मर्डर: बेरहमी से कैंची से गोद मां-बाप और बहन को मार डाला जानिए क्या थी वजह

Indiarox

ट्रिपल मर्डर: बेरहमी से कैंची से गोद मां-बाप और बहन को मार डाला, सुबह 3 बजे उठा और मुंह दबाकर एक-एक कर तीनों पर करता गया वार; आखिर क्यों एक बेटा और भाई बन गया बेरहम कातिल

बेटे की आंखों में न आंसू थे न चेहरे पर सिकन, पकड़े जाने पर कहता रहा बस एक ही बात

अपने पूरे परिवार को मौत के घाट उतार देने वाला पुलिस के शक से बचने के लिए खुद को भी घायल कर लिया। उसने पूछताछ में बताया कि घटना के वक्त वह सो रहा था। तभी उसे जोर से चिल्लाने की आवाज सुनाई दी। वह उठा तो किसी ने उस पर हमला कर दिया और सिर पकड़ दीवार में मार दिया। उसे 2 ही लोग नजर आए जो वहां से भाग गए। कुछ देर बाद होश आने पर वह चिल्लाया और पड़ोसी को बालकनी से आवाज मार जानकारी दी।

मम्मी-पापा-बहन की मौत आंख में न तो आंसू थे और न चेहरे पर शिकन
पुलिस के मुताबिक मम्मी-पापा और बहन की मौत के बाद भी उसकी आंख में न तो आंसू थे और न चेहरे पर शिकन। पुलिस को सूरज पर यहीं से शक हुआ। सख्ती से पूछताछ कर जब कड़ी से कड़ी जोड़ी गई तो वह टूट गया। पूछताछ में उसने बताया कि उसे सबसे ज्यादा अपने पिता से ही नफरत थी। बहन की एक युवक से दोस्ती पर भी वह नाराज था। आरोपी नशे का आदी है और हुक्का पीने का शौक रखता था। कम उम्र से ही बेटे के भटके कदम को लेकर उसके परिजन अक्सर उस पर गुस्सा और उसकी पिटाई करते थे। 12वीं में वह एक बार फेल भी हो गया था। आए दिन मारपीट से परेशान होकर सूरज ने क्राइम पेट्रोल देखकर पूरी योजना तैयार की। पहले से घर में कैंची और चाकू छुपाए। इसके बाद तड़के 3 बजे उसने सबसे पहले मुंह दबाकर बहन पर चाकू से वार किए। इसी तरह मां और पिता को भी उसने मौत के घाट उतार दिया।

धीरे-धीरे पुख्ता होता गया शक 
– बिल्डिंग का मेन गेट अंदर से लॉक था, पहली मंजिल का दरवाजा भी बंद था, ऐसे में बाहर से कातिल के आने की संभावना कम थी।
– मां सिया के शरीर पर ज्वेलरी जस की तस मिली। मोबाइल और सारा सामान सेफ था।
– घर के पीछे एक मेन गेट है। यह गेट शाम होते ही लॉक कर दिया जाता है।
– कातिल ने एक परिवार के 3 लोगों का कत्ल किया तो फिर सूरज को क्याों जिंदा छोड़ा?
– होश में आने के बाद सूरज ने अपने मोबाइल से पुलिस को क्यों नहीं बुलाया? पड़ोसी की मुंडेर पर मिट्‌टी पड़ी थी। उस पर किसी के हाथ, पैर, जूते के निशान नहीं मिले।

15 अगस्त को पिता ने पतंग उड़ाने पर मारा था 
खून से लथपथ एक बहन तड़पती रही, मदद की गुहार लगती रही, लेकिन फिर भी उसके भाई को उस पर रहम नही आया। आखिर एक भाई के सामने तड़पकर बहन ने दम तोड़ दिया। बहन के प्रति सूरज की नफरत इस कदर थी, कि उसके तड़पने के दौरान वह सामान फैला लूट के ड्रामे की पटकथा लिख रहा था। पुलिस की जांच में पता चला कि आरोपी को उसके पिता ने इस साल 15 अगस्त को पतंग उड़ाने को लेकर बुरी तरह मारा पीटा था, उसी दिन से उसने पिता को मार देने की ठान ली थी। इस हत्याकांड को अंजाम देने से पहले आरोपी ने बीती रात अपनी फैमिली के साथ समय गुजार उन्हें फोटो दिखा पुरानी यादें ताजा कीं, लेकिन उसके मन में चल कुछ और रहा था।

2013 में सूरज भाग गया था घर से, घरवालों से कहा, उसका अपहरण कर लिया गया 
मिथलेश के सबसे बड़े भाई चंद्रभान छतरपुर में किराए के मकान में रहते हैं। उन्होंने बताया कि सितंबर, 2013 में सूरज घर से 500 रुपए लेकर किताब खरीदने के लिए शाम को निकला था। वापस नहीं आया तो पिता ने उसके लापता होने की रिपोर्ट वसंतकुंज थाने में दर्ज करा दी। दो ढाई घंटे बाद सूरज ने पिता को कॉल किया और बताया कि वह मोदीनगर में एक रेलवे स्टेशन के नजदीक है। उसने बताया कि किसी ने उसके मुंह पर कपड़ा रख दिया था। उसके बाद उसे कुछ पता नहीं। होश आया तो उसने खुद को यहां पाया। पिता ने मोदीनगर में मौजूद कुछ जानकारों की मदद से सूरज को स्थानीय पुलिस के हवाले कराया और खुद उसे लेने गए।

पिता को कई जगह, मां-बहन को सीने पर गोदा 
पड़ोसी प्रीति ने बताया कि एक कमरे में बेड पर नेहा पड़ी थी। इसी कमरे में फर्श पर सिया पड़ी थी। दूसरे कमरे में अंकल (मिथलेश) मिले। पुलिस ने कहा मिथलेश के पैर पर एक, सीने पर तीन, गर्दन पर चाकू का एक घाव था। नेहा की गर्दन और छाती पर कई बार वार करने के निशान मिले तो वहीं महिला की छाती को भी चाकू से गोद रखा था।

YOU MAY ALSO LIKE OUR FACEBOOK PAGE FOR TRENDING VIDEOS AND FUNNY POSTS CLICK HERE AND LIKE US AS INDIAROX

Related posts

Independence Day 2018: History, Importance, Significance, Why it is celebrated on 15th August

indiarox

फीफा विश्व कप 2018 में 10 साल के भारतीय बच्चे ने रचा इतिहास

spyrox

FIFA World Cup 2018: जानिए कौन है विराट कोहली का फेवरेट फुटबॉलर ?

spyrox

Leave a Comment